सीधी:खाद्यान्न वितरण में अनियमितता पर तीन विक्रेताओं के विरुद्ध उपखण्ड अधिकारी ने की कार्यवाही

Ticker

6/recent/ticker-posts

सीधी:खाद्यान्न वितरण में अनियमितता पर तीन विक्रेताओं के विरुद्ध उपखण्ड अधिकारी ने की कार्यवाही

सीधी:खाद्यान्न वितरण में अनियमितता पर तीन विक्रेताओं के विरुद्ध उपखण्ड अधिकारी ने की कार्यवाही

वितरण कार्य से पृथक करते हुए आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने के दिए आदेश
------
उन्नीस लाख रुपये से अधिक की वसूली के दिए निर्देश
------

शासकीय उचित मूल्य दुकान से खाद्यान्न वितरण में अनियमितता के कारण उपखण्ड अधिकारी गोपद बनास नीलेश शर्मा द्वारा तीन विक्रेताओं के विरुद्ध कठोर अनुशासनात्मक एवं वैधानिक कार्यवाही की गई है। श्री शर्मा द्वारा खाद्यान्न वितरण में अनियमितता तथा कालाबाजारी पाए जाने पर शासकीय उचित मूल्य दुकान बेंदुआ के विक्रेता पुष्पराज सिंह, पनवार चौहानन टोला के विक्रेता रणमत सिंह तथा पड़खुरी नंबर 1 के विक्रेता अवधेश प्रसाद शुक्ला को वितरण कार्य से पृथक करते हुए उनके विरुद्ध संबंधित पुलिस थाने में आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने का आदेश दिया गया है। 

उपखण्ड अधिकारी श्री शर्मा द्वारा संबंधित विक्रेताओं से कालाबाजारी की गई सामग्री की राशि बकाया की भांति वसूली के निर्देश संबंधित तहसीलदारों को दिए हैं। शासकीय उचित मूल्य दुकान बेंदुआ के विक्रेता पुष्पराज सिंह से 4 लाख 5 हजार 670 रुपये, पनवार चौहानन टोला के विक्रेता रणमत सिंह से 8 लाख 49 हजार 130 रुपये तथा पड़खुरी नंबर 1 के विक्रेता अवधेश प्रसाद शुक्ला से 6 लाख 50 हजार 140 रुपये वसूली किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही उन्होंने संबंधित समिति प्रबंधकों को विक्रेता को पद से पृथक करने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं तथा समीपी शासकीय उचित मूल्य दुकान के विक्रेता के माध्यम से खाद्यान्न वितरण की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। 

उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व भी उपखण्ड अधिकारी द्वारा खाद्यान्न वितरण में अनियमितता पर दो विक्रेताओं के विरुद्ध कार्यवाही की गई है। उपखण्ड अधिकारी द्वारा शासकीय उचित मूल्य दुकान बमुरी की विक्रेता उमा शर्मा तथा उपनी के विक्रेता अमरपाल सिंह एवं सहायक विक्रेता अभिषेक सिंह को वितरण कार्य से पृथक करते हुए उनके विरुद्ध संबंधित पुलिस थाने में आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने का आदेश दिया गया है। साथ ही उमा शर्मा से कालाबाजारी की राशि 4 लाख 62 हजार 835 रुपये तथा अमरपाल सिंह एवं अभिषेक सिंह से एक लाख 46 हजार 900 रुपये वसूली किए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ