सीधी: मदद मांगने पर डॉक्टर हुआ गुंडागर्दी पर उतारू,गाली गलौज कर नर्सों से छेड़छाड़ में फसाने की दी धमकी

Ticker

6/recent/ticker-posts

सीधी: मदद मांगने पर डॉक्टर हुआ गुंडागर्दी पर उतारू,गाली गलौज कर नर्सों से छेड़छाड़ में फसाने की दी धमकी



सीधी: मदद मांगने पर डॉक्टर हुआ गुंडागर्दी पर उतारू,गाली गलौज कर नर्सों से छेड़छाड़ में फसाने की दी धमकी



 सीधी
सीधी की बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था किसी से छुपी नहीं है जहां डेली दर्जनों मौतें हो रही हैं। यहां जिंदगी बचाने के लिए परिजनों के मिन्नतें करने पर अब डॉक्टर मदद की बजाय गुंडागर्दी पर उतर आते हैं।
 हैरानी और शर्मनाक ये है कि मरीज के परिजनों द्वारा उपचार में मदद मांगने पर कुछ डॉक्टर ऐसे भी हैं जो मरीजों के परिजनों से गाली गलौज कर उन्हें ज्यादा बोलने पर नर्सों से छेड़छाड़ में फंसा देने की धमकी भी देते हैं। 

*ये है पूरा मामला

जिला चिकित्सालय के फीवर क्लीनिक के पहली मंजिल में  मरीजों की सहायता के लिए कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है जहां आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक मरीज के परिजन बीते गुरुवार को दोपहर 2 बजे के लगभग कोविड कमांड में बैठे आयुष डॉक्टर माधव पांडे से मदद मांगने जब गए और बताया कि हमारा मरीज कोरोना पॉजिटिव है जिनको आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है बताया गया कि परिजनों के संपर्क में रहने वाले परिवार के अन्य सदस्य कि अचानक तबीयत खराब हो गई है और सांस लेने में समस्या हो रही है जिसकी मदद कर पीड़ित मरीज को आइसोलेशन वार्ड सीधी में लाया जाए।
 बस इतना सुनते ही डॉक्टर माधव पांडे आग बबूला हो गये और गाली गलौज करते हुए धमकाने लगे। डॉक्टर की बदतमीजी यहीं नहीं रुकी बल्कि वो मरीजों के परिजन से मां-बहन की गाली गलौज पर भी उतर आया। हैरानी और शर्मनाक बात ये है कि उस डॉक्टर के द्वारा की जा रही गाली गलौज का मरीज के परिजन जब विरोध करने लगे तो डॉक्टर ने नर्सों से छेड़छाड़ में फंसा देने की धमकी देने लगा।

कंट्रोल रूम का नहीं उठता फोन:;

मरीज के परिजन द्वारा बताया गया कोविड-19 कट्रोल रूम 1075 का फोन नहीं लगा रहा था। बताया गया कि उक्त डॉक्टर माधव पांडे के द्वारा एक महिला डॉक्टर तथा कुछ लड़कियों के साथ बैठकर गप्पे मार रहा था। बातों में डिस्टर्ब ना हो इसके लिए फोन का रिसीवर उठाकर बगल में रख दिया था, जहां मरीजों के द्वारा फोन करने पर वो फोन हमेशा इंगेज जाने लगता है और फोन नहीं लगता है जिसके लिए परिजन कंट्रोल रूम में पहुंच गये। कंट्रोल रूम में मरीज के परिजनों के पहुंचने पर उक्त डाक्टर आग बबूला हो गया और गाली गलौज कर अश्लीलता पर उतारू हो गया।

एसडीएम ने खड़े किये हाथ

उक्त डॉक्टर के द्वारा किये गये मानवीय व्यवहार की जानकारी पीड़ित परिजन द्वारा गोपद बनास एसडीएम को जब पहुंचाई तो एसडीएम ने अपने हाथ खड़े कर लिए। एसडीएम ने कहा कि कलेक्टर साहब को बताइए वही कुछ कर सकते हैं।

*कोतवाली में दर्ज कराई गई शिकायत

डॉक्टर के द्वारा अभद्रता एवं गाली गलौज करने तथा नर्सों से छेड़छाड़ में फंसाने की धमकी को लेकर परेशान पीड़ित ने उक्त डॉक्टर के खिलाफ एफआईआर करवाने के लिए कोतवाली में लिखित शिकायत दर्ज कराई है। 

*इनका कहना है

मरीज के परिजनों के साथ यदि किसी भी तरह की अभद्रता की गई है तो यह बेहद शर्मनाक है। मैं इसमें जरूर कार्रवाई करूंगा और मरीज के लिए समुचित उपचार की व्यवस्था करूँगा।


*अनिल सुचारी
*कमिश्नर रीवा संभाग, रीवा

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ