सीधी जिले में कोरोना विस्फोट,24 घण्टे में मिले 13 संक्रमित व्यक्ति

Ticker

6/recent/ticker-posts

सीधी जिले में कोरोना विस्फोट,24 घण्टे में मिले 13 संक्रमित व्यक्ति


सीधी जिले में कोरोना विस्फोट,24 घण्टे में मिले 13 संक्रमित व्यक्ति



 सीधी।  आर. बी.सिंह(राज)
जिले में कोरोना का बड़ा विस्फोट होने से 24 घंटे में एक साथ 13 व्यक्ति संक्रमित मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना के मिले नये संक्रमितों को उपचार व्यवस्था सुनिश्चित कराने के साथ ही उनके संपर्क में आए लोगों की ट्रेसिंग का कार्य शुरू कर दिया गया है। इस प्रकार सीधी जिले में अब शुक्रवार तक 20 व्यक्ति कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। कोरोना संक्रमण के फैलाव को लेकर सबसे बड़ी लापरवाही ये बनी हुई है कि जिला प्रशासन कोरोना गाइडलाइन का नहीं करा पा रहा है। हैरत की बात तो यह है कि वर्तमान मेंं जहां कोरोना संक्रमण को लेकर देश और प्रदेश में गंभीर खतरा निर्मित है। 

*कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करा पा रहा जिला प्रशासन*

प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लगातार निर्देश जारी कर रही है। बावजूद इसके सीधी जिले में कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने तक की जरूरत नहीं समझी जा रही है। इसी वजह से लोग बिना मास्क का उपयोग करते हुए हर जगह घूमते नजर आ रहे हैं।
बाजार क्षेत्रों की स्थिति तो और भी गंभीर बनी हुई है। यहां खरीदी करने के लिए दुकानों में ग्राहकों की भीड़ उमड़ रही है। व्यवसायी न तो स्वयं मास्क का उपयोग कर रहे हैं और ना ही ग्राहकों को मास्क लगाने के लिए टोक रहे हैं।  
जिला मुख्यालय की बात की जाय तो यहां सुबह 6 बजे से बाजार में लोगों की आवाजाही तेजी से शुरू हो जाती है। 8 बजे से व्यवसायिक प्रतिष्ठान खुलने लगते हैं और 10 बजे से ग्राहको की भीड़ खरीदी करने के लिए उमडऩे लगती है। जिला मुख्यालय में ग्रामीण क्षेत्रों से सबसे ज्यादा लोग खरीदी करने के लिए आते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के बड़े खतरे को आज भी लोग काफी हल्के में ले रहे हैं। शहरी क्षेत्र में ही जब मास्क लगाना और सोशल डिस्टेसिंग का पालन करना आवश्यक नहीं माना जा रहा है तो ग्रामीण क्षेत्रों की तो बात ही अलग है। शासकीय कार्यालयों में भी कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने की जरूरत नहीं समझी जा रही है। कोरोना गाइडलाइन का पालन करना वर्तमान में सबसे ज्यादा आवश्यक है और इसको लेकर जिला प्रशासन कतई गंभीर नजर नहीं आ रहा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ