रीवा-सीधी-सिंगरौली रेलवे लाइन परियोजना तथा कटनी-सिंगरौली रेल लाइन दोहरीकरण की सांसद ने की समीक्षा

Ticker

6/recent/ticker-posts

रीवा-सीधी-सिंगरौली रेलवे लाइन परियोजना तथा कटनी-सिंगरौली रेल लाइन दोहरीकरण की सांसद ने की समीक्षा



रीवा-सीधी-सिंगरौली रेलवे लाइन परियोजना तथा कटनी-सिंगरौली रेल लाइन दोहरीकरण की सांसद ने की समीक्षा

विभागीय समन्वय स्थापित कर  रेलवे लाइन निर्माण कार्य में प्रगति लाएं- सांसद श्रीमती पाठक

सीधी।
  सांसद Riti Pathak  द्वारा रीवा-सीधी-सिंगरौली रेलवे लाइन निर्माण तथा कटनी-सिंगरौली रेल लाइन दोहरीकरण  के प्रगति की समीक्षा की गयी। समीक्षा बैठक में सांसद श्रीमती पाठक ने कहा कि  रेलवे लाइन निर्माण का कार्य समय सीमा में पूर्ण करने के लिए सभी संबंधित विभागों को आपसी समन्वय स्थापित कर नियमित संवाद बनाकर एक टीम के तरह कार्य करने की आवश्यकता है। यह परियोजना जिले के विकास के लिए महत्वपूर्ण परियोजना है तथा रेल लाईन का कार्य समय से पूर्ण करना हम सभी की जिम्मेदारी है।

  सांसद श्रीमती पाठक ने कहा कि भू-अर्जन का कार्य शीघ्रता से पूर्ण कर जमीन को रेलवे विभाग को हस्तांतरित की जाए जिससे कार्य को पूर्ण किया जा सके। इसके साथ ही छूटे हुए रकबों के भू-अर्जन के कार्य में प्रगति लाएं। सांसद ने कहा कि रेलवे लाइन प्रोजेक्ट के लिए बजट का अभाव नहीं है। कार्य हेतु पर्याप्त राशि उपलब्ध है उसका उपयोग करें तथा कार्य में प्रगति लाएं। यह कोशिश की जाए कि रेलवे लाइन के निर्माण का कार्य अनावश्यक रूप से बाधित नहीं हो। सांसद ने कहा कि कार्य में बाधा पहुंचाने वाले व्यक्तियों को कार्य नहीं बाधित करने की समझाइस दें तथा आवश्यकता पड़ने पर नियमानुसार कार्यवाही भी की जाए।

  कलेक्टर Saket Malviya ने कहा कि रेलवे लाइन प्रोजेक्ट को गति प्रदान करने के लिए सभी संबंधित विभाग नियमित संवाद बनाकर रखें। परियोजना को पूर्ण करने के लिए विस्तृत कार्ययोजना बनाएं, प्रत्येक कार्य की एक समय-सीमा निर्धारित करें तथा क्रमबद्ध तरीके से उन्हें पूर्ण करते रहें। कलेक्टर ने कहा कि किसी भी परियोजना को पूर्ण करने के लिए टीम वर्क तथा आपसी समन्वय आवश्यक है। इसलिए जानकारियों का आदान-प्रदान एक सकारात्मक वातावरण में करें।

    अपर कलेक्टर बी के पाण्डेय ने बताया कि रीवा-सीधी-सिंगरौली रेलवे लाइन में जिले के 91 ग्राम प्रभावित हुए हैं, जिनमें से 90 ग्रामों के भू-अर्जन की कार्यवाही पूर्ण हो गयी है। शेष एक ग्राम चंदैनिया के भू-अर्जन की कार्यवाही प्रचलन में है। इसके साथ ही छूटे हुए रकबों के भूअर्जन की कार्यवाही प्रचलन में है। उन्होंने बताया कि रेलवे विभाग द्वारा दी गई जानकारियों के आधार पर कार्य बाधित करने वालों का समझाइस देकर कार्य प्रारंभ कराए गए हैं। आगे भी यदि कोई समस्या आती है तो वह जानकारी साझा कर सकते हैं।  
 
  इस अवसर पर सांसद द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग 39 सीधी से सिंगरौली रोड के निर्माण कार्य की प्रगति की समीक्षा की गई। सांसद ने उक्त कार्य में प्रगति लाते हुए उसे निर्धारित समयावधि में पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।

 बैठक में  उपखण्ड अधिकारी सिहावल नीलाम्बर मिश्रा, गोपद बनास नीलेश शर्मा, चुरहट एस पी मिश्रा सहित रेलवे, वन विभाग तथा अन्य संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ