नीरा गौड़ के नेत्रों से दो लोगों की जिंदगी रोशन, मृत्यु उपरांत देहदान कर्तव्य संस्था के सहयोग से हुआ नेत्रदान

Ticker

6/recent/ticker-posts

नीरा गौड़ के नेत्रों से दो लोगों की जिंदगी रोशन, मृत्यु उपरांत देहदान कर्तव्य संस्था के सहयोग से हुआ नेत्रदान


नीरा गौड़ के नेत्रों से दो लोगों की जिंदगी रोशन, मृत्यु उपरांत देहदान कर्तव्य संस्था के सहयोग से हुआ नेत्रदान 

   देहदान कर्त्तव्य संस्था ने डॉ एस के गौड़ की अध्यक्षता में पहली बार अपने सदस्य की प्रदेश से बाहर भरुच मेडिकल कॉलेज , भरुच (गुजरात ) में नीरा गौड़ पत्नी स्व राजकुमार गौड़, निवासी अतरौली  का सफलतापूर्वक पूर्वक नेत्रदान हो गया। 
देहदान कर्तव्य संस्था के सदस्य भुवनेश वार्ष्णेय आधुनिक के अनुसार यह सराहनीय कार्य देहदान कर्तव्य  संस्था के अथक प्रयासों से ही सम्भव हो पाया। 
इस अवसर पर देहदान कर्तव्य संस्था के अध्यक्ष डॉ एस के  गौड़ ने कहा जहां चाह वहाँ राह अर्थात नीरा गौड़  ने कुछेक दिन पहले ही अपनी अंतिम इच्छा जाहिर करते हुए अपने पुत्र अनिल गौड़ सहित नेत्रदान के वास्ते देहदान कर्तव्य संस्था की सदस्यता ग्रहण की थी।पारिवारिक सदस्यों ने पूर्ण सहयोगी बन सकारात्मक व मानवीय कदम उठाया जो  उनके निवास से इतनी दूरी होने पर भी एक मिसाल बन गई। इस सफल सराहनीय कार्य  में डॉ कुलवंत गौड़ (शाइन फाउंडेशन, कोटा) व डॉ प्रफुल्ल सिरोया (गुजरात)
विशेष सहयोगी बने। 
नेत्रदान के इस पुनीत कार्य में डा एस के गौड़ , भुवनेश वार्ष्णेय आधुनिक , दीपू, रेखा शर्मा, दया शंकर शर्मा, तनुजा का भी योगदान रहा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ